इनसे मिलो – 2

फ़रवरी 7, 2006 at 7:31 पूर्वाह्न टिप्पणी करे

ये खुदा है

नज़र न आये तो तसावुर कर लिया जाये समझ लो कि वे तुम्हारे साम्ने है, वे स्दा घायब है इसी लिये उसका नाम खुदा है, अगर नज़र आया तो लोग उसे खैद मे डाल देंगे । सबसे पेहले अमेरिका ने सवालों कि बोछाड करदी उसामा कहां है? केटरीना और रीटा मे बे घर होवे लोगों से माफ़ी मांगे । मौका घनीम्त त्ब्ल्घी ज्मात वालो ने खुदा को दबोच लिया और फ़रयाद कर रहे थे कि मुसल्मानो को बता दे हमारी हमारी जमात ही जन्न्ती है जैसा कि तब्लीघी निसाब मे लिखा है । फ़ल्स्तीन मे जबरद्स्त ज्ल्से और जुलुसों कि तैयारियां कि वे कबसे खुदा का इन्तेज़ार कर रहे थे, वो आया भी तो रहेगा इसराईल मे फिर भी फ़ल्स्तीनियों को उम्मीद है खुदा ईसराईल आये तो उसका साया फ़लस्तीन पर ही होगा । लैकिन ईराक़ी परेशान कि अब किया जवाब दें जबकि सब अपना किया है मगर खुदा से एक फरियाद है अली कि मज़ार सऊदी अरब मे शिफ़्ट करदे बस हमें और कुछ नही चाहते । खुदा कि मदद से मिसरियों ने खज़ाने तलाश करके अमेरिका के हवाले करदिये । सददाम ने खुदा को देखा तो दुबारा इमान ले आया फिर ये जनकर शर्मिन्दा हुवा कि वो भी अमेरिका कि खबज़े मे । चीन ने मजहबी लोगों को खुश करने कि लिये खुदा के हम शकल बना कर फ़रुख्त करना शुरु कर दिये बटन दबाओ तो सारे राज़ उगल देता है । अभी तक अफ़घानिसतान से कोई शिकायत नही आई शायद कि वो अमेरिकी साये मे महफ़ूज़ हों । खुदा ने अमेरिकी मेज़बानी से होकर बादेशाहत कि टोपी उसके सर पर बानधी । उसामा छुपते छुपाते खुदा से शाबाशी लेने पहुनचे मगर अमेरिकी जाल मे बुरी तरह फंस गये । अमेरिका ने खुदा का ग्श्त करवाया, अफ़्घानों से पुछा किया यही है तुम्हारा रब जिस से मदद कि भीक मांगते थे? मांगलो जो मांगना है इस से पहले कि खुदा गायब हो जाए । बिल गेटस ने नऐ विंडोस का तारुफ़ करवाया मगर खुदा को जरा न भाया और न ही उसकी समझ मे कुछ आया । अफ़्गानों ने अफीम, गानजा और चरस कि पैदावार मे दो गुनी बरकत करवाली साथ फसलों कि हिफाजत भी । ईरान कि लाचारगी कि अब करे तो किया करे खुदा भी अमेरिका के खबजे मे, जरुरत है सुलाह करले वरना खैर नही । खुदा के गायब होने का वकत आचुका तो लोगों ने मिन्न्त समाजत शुरु करदी ।

अब खुदा भी बैत बाजी के लिये राजी हो गया, शैतान को बुला कर पास बिठाया फिर दोनों मे जबरदसत मुकाबला शुरु हुवा मगर किसी ने हार नही मानी । खुदा ने बला झजक बयान दे दिया कि सोनामी से नाराज लोगों को खुश करने कि लिये कैटरीना और रीटा को तूफान मे लपैट दिया था । और खोन खराबा, फितना फसाद तो बिल्कुल पसंद नही: जहां कहीं ईसा हो फ़ोरन अपनी आनखें बंद कर लेता है, किसी पर जुल्म होते देखना भी गवारा नही क्योंकि दिल कमजोर है । शैतान ने खुदा को टोका कि वे तो कभी का कंगाल हो चुका है क्योंकि नोट छापने वाली मशीन इनसानों के पास है । खुदा ने हिम्म्त बान्धी कि दुनिया तो उसके अपने ख्बजे मे है । शैतान फिर छेडा मगर खुदा तो अमेरीका के खबजे मे है । सब के सामने यों शर्मिन्दा होना खुदा को बिल्कुल पसंद नही और वे गायब होने कि लिये हिन्दुस्तान और पाकिस्तान कि सरहद पर पहुंच गया, जिस से सरहद पर जबरदसत भूकंप हो उठा, इस से पहले कि खुदा गायब हो जाता लोगों ने अपना फ़ैसला सुना दिया: माना कि हमारा आपस मे मिल जुल कर रहना तुझे पसंद नही, हमें ये भी यक़ीन है इस मे शैतान का कोई दोश नही, भले तो इस दुनिया का मालिक मगर अमेरिका के आगे कुछ भी नही । ईराकी, फ़लस्तीनी और बोसनिया के लोग तो पागल हैं जो सालों से तुझे पुकारते रहे तो इतना लाचार इन पागलों को मालूम नहीं – – आगे और भी है

बाखी फिर कभी

Advertisements

Entry filed under: टैम पास.

ये खुदा है – 1

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

Trackback this post  |  Subscribe to the comments via RSS Feed


हाल के पोस्ट

फ़रवरी 2006
सोम मंगल बुध गुरु शुक्र शनि रवि
    मार्च »
 12345
6789101112
13141516171819
20212223242526
2728  

Feeds


%d bloggers like this: