ये खुदा है – 34

अक्टूबर 12, 2006 at 9:12 पूर्वाह्न 10 टिप्पणिया

[  9/11 जुनियर ]

 खुदा की नींद हराम, अपना बिस्तर छोड फोरन महल से बाहर चीखते हुए भागा। आसमान पर कान फाडते अमेरिकी सेना के लडाकू जहाज़, खुदा ने झिल्लाते हुए कहाः लानत है, हमारी नींद खराब करदी। वो तो शुक्र है अमेरिका ने खुदा को तसल्ली दीः A high-rise building burns after a small aircraft crashed into the building in New York, October 11, 2006. (Tressa Octave/Reuters) ये सब आप ही की सिक्यूरिटी के लिए आए हैं। थंडा पानी पीने के बाद खुदा ने फरमायाः समझ मे नही आता आखिर ये लडाकू जहाज़ कान क्यों फाडते हैं? हम भी जगह जगह भूकम्प और भूचाल लाते हैं मगर मजाल है जिस से कोई आवाज़ निकले। अगर किसी को डराना है तो उसके हाथ पैर तोड देते या फिर उसे जान से ही मार डालते जैसे हम भूकम्प भेज कर सेकडों को एक साथ मारते हैं मगर किसी के कान नही फाडते। अमेरिका ने खुदा के मुंह पर थंडा पानी मारते हुए कहाः अब बस भी करें जब देखो आप अपनी ही तारीफ करते रहते हो जबकि आज फिर किसी ने 9/11 की याद ताज़ा करदी। अब पता लगाने की कोई जरूरत नही ये घटना किस ने की, इस प्लेन को भी ज़रूर उसामा ने ही भेजा है। बातों बातों मे अमेरिका ने खुदा को शर्म भी दिलाईः इतने वर्ष होगए आज तक उसामा को पकड ना सके और बातें बाडी बाडी करते हो जब देखो भूकम्प से डराते हो और खुद नहाने के लिए इन्डोनेशिया के समुद्र मे डुबकी लगाते हो और ऊपर से हमारी बदनामी कि अमेरिका ने क्यों नही बताया खुदा यहां इनडोनेशिया के समुद्र मे डुबकी लगाने वाला है। अमेरिका ने खुदा को समझायाः दुनिया इतनी बडी है और समुद्र दुनिया से बडा है आपको क्या खुजली है हमेशा से नहाने के लिए इनडोनेशिया के किनारे छलांग मारते हो और वहां के बेचारों को हर वर्ष एक नए सुनामी से मुलाकात करवाते हो? सरे आम यूं शर्मिन्दा होना, खुदा को बहुत गुस्सा आया, अमेरिका को तपाने (परेशान) के लिए उत्तर कोरिया को ईशारा दे दिया — जारी

बाकी फिर कभी

Advertisements

Entry filed under: इनसे मिलो.

दिन मे प्लेन गिनना रौशन चिराग

10 टिप्पणियाँ Add your own

  • 1. PRABHAT TANDON  |  अक्टूबर 12, 2006 को 12:30 अपराह्न

    SBC यानि शुएब ब्राडकास्टिंग सर्विस का हार्दिक स्वागत्।
    आज की ताजा खबरों के लिये हमारे खबर नफ़ीस शुएब जो खुदा के दरबार से सीधे आपको रनिंग कमेन्टरी सुनायेगें।
    शुएब भाई बहुत खूब!

  • 2. SHUAIB  |  अक्टूबर 12, 2006 को 12:53 अपराह्न

    अरे भाई तारीफ का शुक्रिया मगर ऐसी कोई बात नही। हर खबर पर टिप्पणी लिखने के वासते मेरे लिए ये एक Base है। और “खुदा” मेरे इन लेखों का खास करदार (अदाकार) है, जैसा के भगवान (खुदा) हर जगह होता है वैसे ही मेरे इन लेखों मे, हर घटना के साथ खुदा को इस लेख मे खास मुकाम (हीरो) बनाता हूं। चाहे वोह खुदा हो, भगवान हो या फिर जीसस हो सभी तो एक ही हैं ना जिसने मुझे और तुम्हें बनाया 🙂

  • 3. bhuvnesh  |  अक्टूबर 12, 2006 को 1:40 अपराह्न

    bahut khoob suaib bhai
    bechara khuda bhi apni khair mana raha hai usa mein…….

  • 4. संजय बेंगाणी  |  अक्टूबर 12, 2006 को 1:45 अपराह्न

    वाह भई, बहुत खुब.
    वैसे खुदा तथा जीसस एक नहीं हैं, जीसस खुदा का बेटा हैं खुद खुदा नहीं.

  • 5. समीर लाल  |  अक्टूबर 12, 2006 को 2:09 अपराह्न

    वाह भाई, यह लेख और टिप्पणी दोनों खुब रहीं.

  • 6. ratna  |  अक्टूबर 12, 2006 को 3:06 अपराह्न

    बहुत मज़ा आया पढ़ कर ।
    खुुदा से खुदा(अमरीका) की हुई मुलाकात
    काफी असरदार तरीके से शुरू हुई बात
    लगता है दोनों में जम कर पटेगी
    यह कहानी यूहीं आगे बढ़ती रहेगी।

  • 7. viren  |  अक्टूबर 13, 2006 को 12:42 अपराह्न

    you are right sir and lage raho

  • 8. इदन्नम्म  |  अक्टूबर 14, 2006 को 11:43 पूर्वाह्न

    बहुत बढिया शुएब भाई। आपने तो खुदा को भी आईना दिखा दिया। वैसे कहीं ये आईना जगदीश जी का तो नही!!

  • 9. suresh  |  नवम्बर 10, 2008 को 3:56 अपराह्न

    suiab bhai
    aapne to apne baap ke dushman ko apni maa ke saath bich chourahe me sula diya , saram to kar kyuki ab teri maa ko tere jaisa hi aulaad paida hoga .

  • 10. rahman  |  सितम्बर 10, 2009 को 1:52 पूर्वाह्न

    suib sale tum sala muslim nahi sirf nam change kiya

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

Trackback this post  |  Subscribe to the comments via RSS Feed


हाल के पोस्ट

अक्टूबर 2006
सोम मंगल बुध गुरु शुक्र शनि रवि
« सितम्बर   नवम्बर »
 1
2345678
9101112131415
16171819202122
23242526272829
3031  

Feeds


%d bloggers like this: